वेबसाइट क्या होता है? एक वेबसाइट बनाने के लिए क्या-क्या चीज़ें चाहिए?

जिओ के आ जाने से भले ही भारत डाटा उपभोग करने वाला सबसे बड़ा देश बन गया है। लेकिन कंप्यूटर इंजीनियरिंग और इसके समतुल्य शिक्षा लिए लोगो को छोड़ दिया जाये तो। आज भी यहाँ के एक सामान्य आदमी या डाटा उपयोग करने वाले इन्सान को ये नही पता होता है की एक वेबसाइट क्या होता है ।

मैं एक ब्लॉगर और वेबसाइट मेकर हूँ। लोग जब मुझसे मेरे काम के बारे में पूछते है तो मुझे बहुत दिक्कत होती है, उन लोगो को ये समझाने में की मैं करता क्या हूँ। यहाँ तक की बहुत से पढ़े-लिखे ग्रेजुएट लोग भी नही समझ पाते। मैंने ऐसे लोग भी देखे है जिन्होंने PGDCA जैसे कंप्यूटर कोर्स भी किये हुए है लेकिन वेबसाइट क्या होता है, कैसे काम करता है, इन चीजों को नही जानते है।

लेकिन आज जब हमारे जीवन में टेक्नोलॉजी इतना बढ़ता जा रहा है तो इन चीजों का एक बेसिक नॉलेज होना बहुत जरुरी हो जाता है। इसीलिए इस पोस्ट में मैं वेबसाइट और उसे बनाने वाले कॉम्पोनेन्ट के बारे में आसान शब्दों में बताने की कोशिश करता हूँ।

वेबसाइट क्या होता है?

वेबसाइट क्या होता है? एक वेबसाइट बनाने के लिए क्या-क्या चीज़ें चाहिए?

अगर शाब्दिक रूप से देखा जाये तो, “वेबसाइट” दो शब्दों से बना है। वेब और साईट

‘वेब’ शब्द सामान्यतः जाल के लिए उपयोग होता है। अब जाल क्या होता है ये तो आप समझते ही होंगे। जब सामान प्रकार की कोई चीजे या अवयव आप में एक-दुसरे से जालनुमा संरचना में जुड़े होते है तब उसके लिए वेब शब्द का इस्तेमाल होता है। और यहाँ पर दुनियाभर के अलग-अलग कंप्यूटर और सर्वर, इन्टरनेट के सहारे एक-दुसरे से जुड़े होते है। तब इसके लिए www या वर्ल्ड वाइड वेब अर्थात दुनियाभर में फैली जाल शब्द उपयोग होता है। जिसे बोलचाल में वेब कहा जाता है।

दूसरा शब्द है ‘साईट’। शाब्दिक रूप से साईट का मलतब एरिया या प्लाट होता है। वो जगह जहां कोई संरचना जैसे की बिल्डिंग आदि बनी होती है, उसे साईट कहा जाता है। उसी के अनुसार यहाँ पर वेबसाइट का मतलब हुआ वेब में कोई जगह या एरिया (किसी कंप्यूटर या सर्वर में होता है) जहां पर अलग-अलग एलिमेंट जैसे की टेक्स्ट, ऑडियो, इमेज, विडियो आदि वेबपेज में व्यवस्थित होते है। और जिसे हम वेब एड्रेस या यूआरएल या डोमेन के द्वारा पहुँच सकते है।

मेरे ख्याल से अब आप समझ गये होंगे की वेबसाइट होता क्या है। तो चलिए अब ये जान लेते है की एक वेबसाइट बनाने के लिए किन-किन चीजों की आवश्यकता होती है। अर्थात वेबसाइट के अलग-अलग घटक।

वेबसाइट बनाने के लिए क्या-क्या चीज़ें चाहिए?

हम इसे आसानी से समझने के लिए ये मान के चलते है की वेबसाइट एक ऑफिस होता है। अगर देखा जाये तो होता ही है एक ऑफिस जोकि रियल दुनिया में होने के बजाय इन्टरनेट के वर्चुअल दुनिया में होता है। खैर आगे बढ़ते है.. मान लेते है की वेबसाइट एक ऑफिस होता है। तो वो कौन-कौन सी चीज़ें है जिनसे हम एक ऑफिस बना सकते है? चलिए बनाते है एक ऑफिस।

सबसे ज्यादा जरुरी २ चीज़ें है,
१. डोमेन नेम और २. होस्टिंग
अब ये डोमेन और होस्टिंग क्या है? देखते है।

१. डोमेन नेम :- मान लीजिये हमारे ऑफिस को शुरू करने के लिए हमें सरकार या लोकल अथॉरिटी के पास इसका रजिस्ट्रेशन करवाना है। तब हमें डॉक्यूमेंट में इसका नाम और इसका एड्रेस बताना होगा। वैसे ही हमारे ग्राहक हमारे ऑफिस तक पहुंचे इसके लिए उनको हमारे ऑफिस का नाम और एड्रेस पता होता चाहिए।

बस डोमेन नाम वही वेबसाइट का नाम और एड्रेस होता है। ये वही एड्रेस होता है जिसे हम ब्राउज़र में डाल के कोई वेबसाइट ओपन करते है। जैसे की इस वेबसाइट का डोमेन websitebanao.in है। ये इन्टरनेट में किसी वेबसाइट तक पहुचने का रास्ता भी है और इन्टरनेट में किसी एक क्षेत्र या जगह (वेबसाइट) का नाम भी है।

ये डोमेन नाम डोमेन रजिस्टर करने वाली कंपनीयों से खरीदना होता है। और उनके प्लान के हिसाब से हर साल रेनेव करना होता है। किसी भी वेबसाइट के लिए डोमेन नाम २ सबसे जरुरी चीजों में से एक है। इसके बिना कोई ग्राहक हमारे वेबसाइट तक ही नही पहुँच पाएगा।

२. वेबसाइट होस्टिंग: अब हमें ऑफिस का नाम और उसके लिए एड्रेस मिल चूका है। लेकिन ऑफिस बनाने के लिए हमें एक प्लाट की आवश्यकता है जिसमे बिल्डिंग बनेगी और ऑफिस खुलेगा। तो वो प्लाट ही होस्टिंग कहलाता है।

होस्टिंग किसी कंप्यूटर या सर्वर में स्टोरेज होता है। इसमें वो सारे डाटा और फाइल्स स्टोर रहते है जिनसे मिलकर वेबसाइट बनता है और उन फाइल्स को इन्टरनेट के जरिये एक्सेस किया जाता है। वेबसाइट बनाने के लिए सबसे जरुरी २ चीजों में से ये दूसरा चीज है। इसे भी वेबसाइट होस्टिंग कंपनी खरीदना पड़ता है। अलग-अलग प्लान के हिसाब से आपको अलग अलग कीमत चुकानी होती है।

रुकिए ये दोनों चीज़ें अब आपके पास हो गये तो अभी वेबसाइट पूरा बना नही है। इसके अलावा भी हमें कुछ चीज़ें चाहिए ऑफिस को तैयार करने के लिए लेकिन यहाँ से कुछ चीज़ें आपके चॉइस के हिसाब से बदल सकती है।

होस्टिंग होने के बाद अब आपको उसमे वेबसाइट बनाना है। इसके कुछ अलग-अलग तरीके है।

१. पहला तरीका कोडिंग- गड्ढे खोदना और बिल्डिंग बनाना:

इसमें वेबसाइट की पूरी कोडिंग आपको ही करनी होती है। आप जैसा चाहे वैसा बनाए आपकी मर्जी। अगर आप कोई प्रोग्रामर नही है, आपको कोडिंग नही आती है तो ये आपके लिए बहुत ही मुश्किल तरीका होगा। इसका मतलब ये हुआ की अब अपने प्लाट में आपको गड्ढे खोदना है, नीव बनाना है, दीवारे खड़ी करनी है… आप समझ ही गए होंगे। पूरा काम आपको करने होंगे। अगर आप ये नही करना चाहते तो आपके पास एक दूसरा रास्ता है। दूसरा रास्ता देखते है।

२. दूसरा रास्ता वेबसाइट बिल्डर-इशारा करे और बिल्डिंग बनाए:

जैसा की ये अपने नाम से बता रहा है ये एक बिल्डर है आप इसका इस्तेमाल करके अपना वेबसाइट बना सकते है और आपको कोडिंग करने की कोई जरुरत नही है। बस आपको अपने वेबसाइट में कहा पे मेनू रखना है कहा क्या रखना है ये सब जानना है और उसके हिसाब से बिल्डर का इस्तेमाल करके वो सब बना लेना है। अगर प्लाट की बात करे तो बिल्डर वो टूल है जिसका उपयोग करके आप, अपने मनचाहे जगह पर दिवार बना सकते है, दरवाजे लगा सकते है, काउंटर लगा सकते है, अपने ऑफिस को कलर कर सकते है। बस अपनी उँगलियों के कुछ इशारो से।

लेकिन हो सकता है कुछ लोगो को ये भी थोडा मेहनत का काम लगे उनके लिए एक तीसरा रास्ता भी है। जीहाँ एक और आसान तीसरा रास्ता। चलिए देखते है क्या है तीसरा रास्ता।

३. तीसरा रास्ता CMS सॉफ्टवेर- बिल्डिंग लगाये:

क्या? CMS सॉफ्टवेर? ये क्या होता है? ये एक सॉफ्टवेर है जो आपके होस्टिंग में इनस्टॉल होता है और आपके वेबसाइट के अधिकतर टेक्निकल चीजों को मैनेज करता है, जैसे की जो भी डाटा या फ़ाइल आप अपने वेबसाइट में डालेंगे उनका मैनेजमेंट, वेबसाइट की कोडिंग्स वगेरा वगेरा। इससे आपका काम और आसान हो जाता है। अगर प्लाट को देखे तो ये एक बना बनाया बिल्डिंग है। जीहाँ एक बना बनाया बिल्डिंग जिसे आपको सिर्फ अपने प्लाट पे ला के रख देना है। और वहां बहुत से अलग-अलग थीम के रूम होंगे उन्हें अपना ऑफिस बना लेना है।

बस एक बेसिक वेबसाइट इतने चीजो से तैयार हो जाता है लोगो के सामने लांच करने के लिए। वैसे आप अपने ऑफिस मतलब की वेबसाइट को और ज्यादा डेकोरेट करना चाहे या और अलग-अलग सर्विस अपने कस्टमर के लिए देना चाहे तो और भी अलग-अलग चीज़ें आपको उपयोग करना होता। लेकिन एक बेसिक वेबसाइट आपका इन चीजों से पूरा हो जाता है।

एक बार फिर नजर मार लेते है। एक वेबसाइट बनाए के लिए हमें दो जरुरी चीजे, डोमेन नाम और होस्टिंग की आवश्यकता होती है। इसके बाद आपके चॉइस के हिसाब से प्रोग्रामिंग लैंग्वेज. या वेबसाइट बिल्डर या CMS सॉफ्टवेर चाहिए।

उम्मीद है इस पोस्ट से एक नॉन-टेक इन्सान भी समझ गया होगा की वेबसाइट क्या होता है और ये किन चीजों से बना होता है।

जानिए आप अपनी वेबसाइट कैसे बना सकते है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *